Share
छात्रों के ल‍िये खुशखबरी : Modi Govt  ने ल‍िया फैसला, अब HRD से सीधे जुड़ेंगे स्‍टूडेंट्स के सोशल एकाउंट.

छात्रों के ल‍िये खुशखबरी : Modi Govt ने ल‍िया फैसला, अब HRD से सीधे जुड़ेंगे स्‍टूडेंट्स के सोशल एकाउंट.

युवा जो नौकरी की तलाश में हैं उनके लिए कहीं न कहीं यह बहुत अच्छी खबर है अब उन्हें जगह जगह सर नहीं मरना होगा बल्कि Human Resource Development से रूबरू हो सकेंगे . यह सब संभव होगा मोदी सरकार के नए फैसले के अनुसार , वो क्या है आपको बताते हैं .

उच्‍च श‍िक्षण संस्‍थानों में पढ़ाई कर रहे छात्रों के ल‍िये यह खबर बेहद महत्‍वपूर्ण है. खासतौर से ऐसे छात्र जो क‍िसी इंस्‍टीट्यूट या श‍िक्षण संस्‍थानों के बारे में अपने सोशल मीडिया वॉल पर खबरें व अन्‍य सामग्री पोस्‍ट करते रहते हैं. दरअसल, केंद्र सरकार ने उच्‍च श‍िक्षण संस्‍थानों में पढ़ाई कर रहे छात्रों को मानव संसाधन मंत्रालय से जोड़ने का फैसला ल‍िया है. इसके मुताबिक छात्रों के ट्व‍िटर, इंस्‍टाग्राम और फेसबुक के एकाउंट को एचआरडी से जोड़ द‍िया जाएगा.

हालांकि इस बारे में कुछ व‍िशेषज्ञों का कहना है क‍ि सरकार यह कदम उठाकर छात्रों की निजी ज‍िंंदगी पर नजर रखना चाहती है. दूसरी ओर मानव संसाधन मंत्रालय, एचआरडी ने यह स्‍पष्‍ट कर द‍िया है क‍ि सरकार की ऐसी कोई मंशा नहीं है. वह छात्रों को सर्व‍िलांस में नहीं रखना चाहती. मानव संसाधन मंत्रालय ने इस बाबत सभी उच्‍च श‍िक्षण संस्‍थानों को पत्र ल‍िखा है.

उच्‍च श‍िक्षण संस्‍थानों को पत्र

Photo : News18Hindi

इस पत्र में मंत्रालय ने कहा है कि सभी हायर एजुकेशन संस्‍थानों को एक दूसरे से और HRD मंत्रालय से जोड़ने के लिये और शिक्षण संस्‍थानों की उपलब्‍ध‍ियों के बारे में सोशल मीडिया पर बताने के लिये प्रत्‍येक हायर एजुकेशन संस्‍थान से एक सोशल मीडिया चैम्‍प‍ियन (SMC) बनाया जाएगा. संस्‍थान किसी फैकल्टी या नॉन फैकल्टी को को सोशल मीडिया चैम्‍प‍ियन बना सकता है.

 

यही सोशल मीडिया चैम्‍पियन्‍स सभी हायर एजुकेशनल संस्‍थानों व मानव संसाधन विकास मंत्रालय के संपर्क में रहेंगे और संस्‍थान व छात्रों के अच्‍छे काम के बारे में बात करेंगे. इसके लिये सोशल मीडिया चैम्‍प‍ियन ये सभी काम करेगा.

  1. अगर उच्‍च शिक्षण संस्‍थान का अपना Facebook, Tweeter या Intagram आदि एकाउंट नहीं है तो वह बनाएगा.
  2. उस एकाउंट को दूसरे उच्‍च शिक्षण संस्‍थानों और HRD मंत्रालय से जोड़ेगा.
  3. संस्‍थान में पढ़ रहे सभी छात्रों के सोशल मीडिया एकाउंट को उच्‍च शिक्षण संस्‍थान व एचआरडी के सोशल मीडिया एकाउंट से जोड़ेगा.
  4. हर सप्‍ताह संस्‍थान से जुड़ी कम से कम कोई एक सकारात्‍मक खबर को सोशल मीडिया पर पब्‍ल‍िश करे.
  5. दूसरे उच्‍च शिक्षण संस्‍थानों के पोस्‍ट को दोबारा रीट्वीट या शेयर करना ताकि छात्र दूसरे संस्‍थानों की सफलता की कहानियों से कुछ सीख ले सकें.

 

मानव संसाधन मंत्रालय ने सभी हायर एजुकेशन इंस्‍टीट्यूट्स को 31 जुलाई तक सोशल मीड‍िया चैम्‍प‍ियंस की जानकारी देनी होगी.  इसमें उनका नाम, पद, मोबाइल नंबर, इमेल आईडी और ट्विटर अकाउंट की जानकारी शामिल होगी..

Source: News18Hindi

Leave a Comment