Share
Rahul बोले – मुझे नहीं लगता कि चुनाव के बाद Mayawati और Akhilesh  मोदी जी को सपोर्ट करेंगे.

Rahul बोले – मुझे नहीं लगता कि चुनाव के बाद Mayawati और Akhilesh मोदी जी को सपोर्ट करेंगे.

Loksabha Election 2019 के चलते कांग्रेस के PM पद के उम्मीदवार Rahul Gandhi का एक अलग ही रूप देखने को मिला अब वो पहले जैसे नहीं रहे , भले ही लोगो नें उनका मजाक उड़ाया उनके परिवार तक को बुरा कहा लेकिन वह हार नहीं माने .उन्होंने यह साबित कर दिया कि वह किसी के कम नहीं है और PM मोदी को भी  पूरी टक्कर दी .

Rahul Gandhi ने लोकसभा चुनाव 2019 अभियान के लिए पार्टी कार्यकर्ताओं का शुक्रिया अदा किया है. Rahul Gandhi ने दावा किया कि विपक्षी पार्टी के तौर पर कांग्रेस की भूमिका ‘A’ ग्रेड की रही है.  Rahul Gandhi ने कहा , ‘मुझे यह कहते हुए गर्व हो रहा है कि हमने PM Modi और BJP के खिलाफ लड़ाई लड़ी और हमारे संस्थानों की रक्षा की. यही हमारा मूल कर्तव्य है.’

Rahul Gandhi ने कहा कि मैं इस तथ्य का सम्मान करता हूं कि बीएसपी-एसपी ने यूपी में एक साथ चुनाव लड़ने का फैसला किया है. कांग्रेस के नजरिए से मुझे यूपी में कांग्रेस की विचारधारा को आगे बढ़ाना है.  राहुल ने कहा, ‘मैंने यह ज्योतिरादित्य और प्रियंका दोनों को यह साफ कर दिया था कि पहली प्राथमिकता BJP को हारने की है.’ दूसरी प्राथमिकता कांग्रेस की विचाराधारा को फैलाना है. तीसरी प्राथमिकता विधानसभा चुनाव जीताना है.  राहुल गाधी ने कहा, मुझे नहीं लगता कि मायावती, अखिलेश या (टीडीपी प्रमुख चंद्रबाबू) नायडू BJP के साथ नहीं जाएंगे.’

Source: outlook India

‘Rafale पर बहस क्यों नहीं करते’

Rahul Gandhi ने चुनाव खत्म होने से पहले BJP अध्यक्ष Amit Shah के साथ अपना पहली प्रेस कॉन्फ्रेस करने के लिए PM Narendra Modi का मजाक उड़ाया.  बता दें लोकसभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण के मतदान से पहले शुक्रवार शाम को PM Modi और BJP अध्यक्ष अमित शाह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की. ठीक इसी वक्त Rahul Gandhi ने भी एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की.

Rahul Gandhi ने कहा कि अब जब PM Modi एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे हैं मैं उनसे यह पूछना चाहता हूं कि आप मेरे से राफेल पर बहस क्यों नहीं करते. मैं आपको बहस की चुनौती देता हूं. आप प्रेस को बताएं की क्यों आप बहस नहीं करते.

Rahul Gandhi ने यह भी कहा कि चुनाव बाद UPA प्रमुख Sonia Gandhi के अनुभव का फायदा उठाया जाएगा. उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा, ‘सोनिया गांधी जी और मनमोहन सिंह जी का बहुत अनुभव है. मैं नरेंद्र मोदी नहीं हूँ कि अनुभवी लोगों दरकिनार कर दूं. हम सोनिया जी के अनुभव का फायदा उठाएंगे.’ प्रधानमंत्री पद के सवाल पर गांधी ने कहा, ‘‘मैंने बहुत स्पष्ट किया है. 23 मई को जनता जो भी फैसला करेगी हम मानेंगे. उससे पहले कुछ नहीं कहेंगे.’’

PM Modi की प्रेस कांफ्रेंस पर किया तंज़ .

जैसे ही मीडिया ब्रीफिंग खत्म हुई, Rahul Gandhi ने ट्वीट के जरिए पीएम मोदी पर निशाना साधा। उन्होंने लिखा- “बधाई मोदी जी। बहुत बढिया प्रेस कॉन्फेंस। आधी लड़ाई दिखी है। अगली बार शाह आपको कुछ जवाबों के जवाब देने की इजाजत देंगे। बहुत बढ़िया।”

पीएम मोदी और अमित शाह के संवाददाता सम्मेलन के वक्त ही प्रेस कॉन्फेंस कर रहे राहुल गांधी ने PM Modi से कई मुद्दों पर उनसे बहस करने की चुनौती दी। उन्होंने मजाक के लहजे में कहा- “प्रधानमंत्री ने चुनाव खत्म होने के चार-पांच दिन पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस की। अप्रत्याशित, भारत के प्रधानमंत्री पहली बार एक प्रेस कॉन्फेंस आयोजित कर रहे हैं।”

Source: Zee News

Leave a Comment