Share

दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने के संबंध में जनता से झूठ बोल गए मोदी – केजरीवाल की गुहार।

देश के प्रधानमंत्री ने अपनी राजधानी से झूठ बोलै है यह कहना है  दिल्ली के मुख्यंमत्री अरविंद केजरीवाल का। केजरीवाल ने दिल्ली को पूर्ण राज्य के तौर पर घोषित करने की मांग करते हुए रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने को लेकर विरोध करना इस बात की स्वीकारोक्ति है कि मोदी ने 2014 के लोकसभा चुनाव में झूठ बोला था. यह इ गंभीर समस्या है और आने वाले चुनाव में मोदी सरकार को दिक्कत पहुचा सकती है।

दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिए जाने की मांग को लेकर एक मार्च से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल करने जा रहे केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली की जनता झूठ और दशकों से किए जाते रहे छलावे का अब उचित जवाब देगी.

Image result for modi kejriwal

केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, ‘दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने को लेकर भाजपा का विरोध का अब इस बात की स्वीकारोक्ति है कि मोदीजी ने 2014 के लोकसभा चुनावों में दिल्ली की जनता से झूठ बोला था. दिल्ली के लोग झूठ और दशकों से किए जा रहे छलावे का अब उचित जवाब देंगे.’

उन्होंने कहा, ‘आडवाणी जी ने अगस्त 2003 में गृह मंत्री के रूप में लोकसभा में दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने संबंधी विधेयक पेश किया था. प्रणब दा (पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी) की अध्यक्षता में संसदीय समिति ने दिसंबर 2003 में इसका समर्थन किया था, लेकिन अंत में यह चूक गया. क्या उनका इरादा सिर्फ दिल्ली की जनता की भावनाओं के साथ खेलने का था? दिल्लीवालों के साथ यह अन्याय क्यों?’

source: the hindi news FY

केजरीवाल ने कहा, ‘हां, दिल्ली भारत की राष्ट्रीय राजधानी है, इसलिए केंद्र को पूरे एनडीएमसी क्षेत्र को अपने नियंत्रण में रखने दीजिए. दिल्ली के बाकी हिस्सों, जिसमें दिल्लीवासी अपनी सरकार का चुनाव करते हैं, उन्हें केंद्र के अधीन कैसे रखा जा सकता है?

आपको बताते दें, दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल 1 मार्च से धरने पर बैठ रहे हैं.

Souce: The Print

Leave a Comment