Share
Facebook ने लॉन्च किया यह नया APP , इस्तेमाल करने वालों को मिलेंगे पैसे, जानिए कैसे

Facebook ने लॉन्च किया यह नया APP , इस्तेमाल करने वालों को मिलेंगे पैसे, जानिए कैसे

दुनिया में सबसे ज़ादा इस्तेमाल किया वाला Facebook एक नया APP लाया है जिसको इस्तेमाल करने में लोगों फायदा भी हो सकता है। आइये जानते हैं आखिर क्या खास है इस app में।

दुनिया की सबसे बड़ी सोशल मीडिया साइट Facebook ने अब एक ऐसा एप लॉन्च किया है जिसके जरिए वह अपने यूजर्स को पैसे देगी। पैसे के बदले लोगों को FACEBOOK  के साथ अपनी जानकारी शेयर करनी होगी, हालांकि ऐसा पहली बार नहीं हुआ है। इससे पहले भी FACEBOOK  ने इसी तरह के दो एप लॉन्च किए थे लेकिन यूजर्स की निजता को लेकर उठ रहे सवाल और आलोचना के बाद दोनों ऐप्स को बंद कर दिया गया।

Facebook ने लॉन्च किया यह नया APP , इस्तेमाल करने वालों को मिलेंगे पैसे, जानिए कैसे
Source: Amar Ujala

FACEBOOK  ने अपने इस नए एप का नाम स्टडी (Study) रखा है जिसे गूगल प्ले-स्टोर से फ्री में डाउनलोड किया जा सकता है, हालांकि अभी तक यह साफ नहीं है कि इस एप को आईएस के लिए लॉन्च किया जाएगा या नहीं। इस एप के जरिए यूजर्स की गतिविधियों पर नजर रखेगा।  उदाहरण के तौर पर इस एप के जरिए FACEBOOK  यह पता करेगा कि आप कौन-कौन से अन्य एप इस्तेमाल करते हैं और किस एप पर क्या करते हैं। साथ ही FACEBOOK  यह भी पता करेगा कि आप किस एप पर कितना समय बिताते हैं।

Facebook ने लॉन्च किया यह नया APP , इस्तेमाल करने वालों को मिलेंगे पैसे, जानिए कैसे
Source: Amar Ujala

वहीं प्राइवेसी के सवाल FACEBOOK  ने कहा है कि यह एप किसी यूजर के अकाउंट और पासवर्ड की जानकारी एकट्ठा नहीं करेगा। साथ ही यह एप यूजर को समय-समय पर इसकी जानकारी देता रहेगा कि आपका डाटा इकट्ठा किया जा र हा है। हालांकि FACEBOOK  ने इस बात की जानकारी नहीं दी है कि इस ऐप के जरिए लोगों को कंपनी कितने पैसे देगी।

Facebook ने लॉन्च किया यह नया APP , इस्तेमाल करने वालों को मिलेंगे पैसे, जानिए कैसे
Source: Sprout Social

गौरतलब है कि पिछले साल FACEBOOK  के मार्केट रिसर्च एप ‘रिसर्च’ को उस शिकायत के बाद बंद कर दिया गया था जिसमें दावा किया गया था कि इस ऐप का इस्तेमाल बच्चे सबसे ज्यादा कर र हे हैं और यह एप एपल की गाइडलाइन्स को फॉलो नहीं करता है। इसी तरह FACEBOOK  के एक और ट्रैकिंग एप Onavo Protect को भी प्राइवेसी की वजह से ही बंद कर दिया गया था।

Source: Amar  Ujala

Leave a Comment