Share
Anti Tobacco day 2019: तंबाकू के कहर से लोगों को बचाने के लिए पूरी दुनियाँ में चल रहे हैं यह अभियान।

Anti Tobacco day 2019: तंबाकू के कहर से लोगों को बचाने के लिए पूरी दुनियाँ में चल रहे हैं यह अभियान।

Tobacco न सिर्फ एक इंसान की ज़िन्दगी को बर्बाद करता है बल्कि उसे ख़त्म भी करदेता है जिससे वो खुद तो चला जाता है लेकिन अपने परिवार को हमेशा हमेशा के लिए एक दुःख दे जाता है। Tobacco का कोई एक प्रकार नहीं है यह अनेक प्रकार के हैं जो दीमक की तरह इन्साफ को तबाह करते हैं। इस समस्या को खत्म करने के लिए आज का दिन बनाया गया है जिसे हम Anti Tabacco Day के नाम से पूरी दुनियां में जानते हैं।
अमर उजाला के लेख के अनुसार ,पिछले 32 सालों से हर वर्ष 31 मई को TOBACCO निषेध दिवस मनाया जाता है। इस दिन का मुख्य उद्देश्य लोगों को TOBACCO से होने वाले स्वस्थ्य नुकसान के विषय में सचेत करना है। साथ ही, इसके नकारात्मक स्वास्थ्य प्रभावों की ओर ध्यान आकर्षित करना है, जो वर्तमान में दुनिया भर में हर साल 70 लाख से अधिक मौतों का कारण बनता जा रहा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के सदस्य राज्यों ने 1987 में विश्व TOBACCO निषेध दिवस की शुरुआत की थी।

Business Live.co.in

World Anti Tobacco Day 2019 में इन मामलों पर जागरूकता अभियान चलाया जाएगा

-फेफड़ों के स्वास्थ्य के लिए TOBACCO धूम्रपान के विशेष खतरों पर जागरूकता।

-TOBACCO से होने वाली फेफड़ों की बीमारियों से वैश्विक स्तर पर मृत्यु और बीमारी की तीव्रता, जिसमें पुरानी श्वसन बीमारियां और फेफड़ों का कैंसर शामिल है।

-TOBACCO धूम्रपान और तपेदिक से होने वाली मौतों के बीच लिंक पर उभरते सबूत।

-समग्र स्वास्थ्य और कल्याण को प्राप्त करने के लिए फेफड़े के स्वास्थ्य का महत्व।

TOBACCO और फेफड़ों के स्वास्थ्य की थीम का अन्य वैश्विक प्रक्रियाओं के लिए महत्त्व है, जैसे कि स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए गैर-संचारी रोगों (एनसीडी), टीबी और वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने के अंतर्राष्ट्रीय प्रयास। यह डब्ल्यूएचओ फ्रेमवर्क कन्वेंशन फॉर टोबैको कंट्रोल (डब्ल्यूएचओ एफसीटीसी) में निहित सिद्ध एमपीओजी TOBACCO नियंत्रण उपायों के कार्यान्वयन को मजबूत करने के लिए सभी क्षेत्रों में हितधारकों को संलग्न करने और देशों को सशक्त बनाने के अवसर के रूप में कार्य करता है।

फेफड़े के स्वास्थ्य को केवल बीमारी की अनुपस्थिति के माध्यम से सुनिश्चित नहीं किया जा सकता। 2030 तक एनसीडी समयपूर्व मृत्यु दर में एक-तिहाई की कमी के विकास लक्ष्य (एसडीजी) को प्राप्त करने के लिए दुनिया भर में सरकारों और समुदायों के लिए TOBACCO नियंत्रण एक प्राथमिकता होनी चाहिए। वर्तमान में, दुनिया इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए सही ट्रैक पर नहीं है।

World Anti Tobacco Day 2019  अभियान के लक्ष्य और थीम

फेफड़ों को स्वस्थ्य रखना चाहते हैं तो सबसे प्रभावी उपाय TOBACCO के उपयोग को जड़ से कम करना है। विश्व TOBACCO निषेध दिवस 2019 की थीम ‘TOBACCO और फेफड़ों का स्वास्थ’ है। इतनी जागरूकता फैलाए जाने के बावजूद और TOBACCO  के नुकसान के पुख्ता सबूत होने के बाद भी, नियंत्रण की संभावनाओं को कम आंका गया है।

Source: HindiJankaari

देशों को डब्ल्यूएचओ एफसीटीसी के पूर्ण कार्यान्वयन के माध्यम से TOBACCO की महामारी का जवाब देना चाहिए और उपलब्धि के उच्चतम स्तर पर एमपीओएनई उपायों को अपनाना चाहिए।  जिसमें TOBACCO की मांग को कम करने के उद्देश्य से सबसे प्रभावी TOBACCO नियंत्रण नीतियों को विकसित करना, लागू करना शामिल है। याद रखें अगर हर व्यक्ति अपनी जिम्मेदारी खुद ले तो सुधार बड़े पैमाने पर संभव है।

फेफड़ों को स्वस्थ्य रखना चाहते हैं तो सबसे प्रभावी उपाय TOBACCO के उपयोग को जड़ से कम करना है। विश्व TOBACCO निषेध दिवस 2019 की थीम ‘TOBACCO और फेफड़ों का स्वास्थ’ है। इतनी जागरूकता फैलाए जाने के बावजूद और TOBACCO  के नुकसान के पुख्ता सबूत होने के बाद भी, नियंत्रण की संभावनाओं को कम आंका गया है।

Tobacco न सिर्फ एक इंसान की ज़िन्दगी को बर्बाद करता है बल्कि उसे ख़त्म भी करदेता है जिससे वो खुद तो चला जाता है लेकिन अपने परिवार को हमेशा हमेशा के लिए एक दुःख दे जाता है। Tobacco का कोई एक प्रकार नहीं है यह अनेक प्रकार के हैं जो दीमक की तरह इन्साफ को तबाह करते हैं। इस समस्या को खत्म करने के लिए आज का दिन बनाया गया है जिसे हम Anti Tabacco Day के नाम से पूरी दुनियां में जानते हैं।

Leave a Comment