Share
Budget 2019: इस बजट में जानिए Railway के हाथों क्या लगा क्या नहीं ?

Budget 2019: इस बजट में जानिए Railway के हाथों क्या लगा क्या नहीं ?

आज लोकसभा में Budget पेश हो चूका हैं जिसे नएन केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण नें आज संसद में रखा . जानना यह है की Railway के हाथो में क्या सुविधाएँ आई और क्या नहीं .चलिए जानते हैं की Railway को लेकर संसद में क्या नए कानून बनाये गए ओर क्या नहीं .

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज यानी शुक्रवार को संसद में Budget  पेश किया. इस दौरान रेल Budget  को पेश करते हुए निर्मला सीतारमण ने साफ, सुरक्षित और समयबद्ध रेल यात्रा का मंत्र दिया. उन्होंन कहा कि आदर्श किराया कानून बनाया जाएगा और Railway  में Public Private Partnership (PPP) का इस्तेमाल किया जाएगा.

निर्मला सीतारमण ने बताया कि Railway  इन्फ्रा को 2018 से 2030 के बीच 50 लाख करोड़ के निवेश की आवश्यकता होगी. इसके लिए निजी भागीदारी बढ़ाई जाएगी. इस Budget  मे रेल और मेट्रो की 300 किलोमीटर की परियोजनाओं को मंजूरी दी गई है. Budget  में राष्ट्रीय परिवहन कार्ड का ऐलान किया गया, जिसका उपयोग सड़क, Railway  समेत परिवहन के सभी साधनों में किया जा सकता है.

क्या है आदर्श किराया कानून

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने Railway  किराए में सुधार के लिए आदर्श किराया कानून बनाने का भी प्रस्ताव पेश किया. इस कानून के जरिए रेल यात्रियों की जरूरत, सुविधाओं और विभागीय आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए Railway  किराया तय करेगी.

Budget 2019: इस बजट में जानिए Railway के हाथों क्या लगा क्या नहीं ?
New Robot USTAAD By Indian Railways Can Check Trains For Technical Glitches

Railway  में निजी भागीदारी बढ़ाई जाएगी

रेल Budget  पेश करते हुए केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि रेल ढांचे के लिए 2018 से 2030 के बीच 50 लाख करोड़ रुपये की जरूरत है. इस जरूरत को पूरा करने के लिए Public Private Partnership (PPP) का इस्तेमाल किया जाएगा. Budget  में Railway  ट्रैक के लिए पीपीपी मॉडल को मंजूरी दी गई है. इसके जरिए रेल ट्रैक के विस्तार और सुधारीकरण के साथ स्टेशन के ढांचागत विकास पर जोर दिया जाएगा.

Budget पेश करने वालीं दूसरी महिला वित्त मंत्री

वैसे तो 1970 में तत्कालीन प्रधानमंत्री Indra Gandhi ने आम Budget  पेश किया था, क्योंकि उनके पास वित्त मंत्रालय का प्रभार भी था, लेकिन 49 साल बाद दूसरी बार कोई महिला वित्तमंत्री Budget  पेश कर रही हैं और वो पहली पूर्णकालिक वित्त मंत्री हैं, जो Budget  पेश कर रही हैं.

Source: Aajtak

Leave a Comment