Share

….अगर ऐसा हुआ , तो फिर से ख़त्म हो जाएगा तीन तलाक़ का कानून!!!

तीन तलाक़ के खिलाफ भी एक अनगिनत जनता है उनके लिए यह खुश खबरी है की मोदी सरकार द्वारा बनाया गया कानून ‘तीन तलाक़’ ख़त्म करदिया जाएगा लेकिन उसके लिए राहुल गाँधी की सरकार आना ज़रूरी है। क्योकि  कांग्रेस ने गुरूवार को कहा कि अगर 2019 लोकसभा चुनाव में वे सत्ता में आती है तो तीन तलाक कानून को खत्म कर देगी। तीन तलाक कानून मुसलमानों में फौरन तलाक को अपराध मानता है। जो की उनके नज़रिये से बहुत  ग़लत है।

लाइव हिंदुस्तान के लेख के अनुसार ,   समाचार एजेंसी पीटीआई ने कांग्रेस नेता सुष्मिता देव का हवाला दिया है, जिन्होंने नई दिल्ली में गुरूवार को एआईसीसी माइनरिटी डिपार्टमेंट के नेशनल कन्वेंशन में कहा- “कांग्रेस पार्टी ने संसद में खड़ा होकर इसका विरोध किया। मैं आपसे वादा करता हूं कि जब 2019 चुनावों में कांग्रेस सत्ता में आएगी तो हम तीन तलाक कानून को खत्म कर देंगे।”

source: Outlook

दिसंबर 2018 में फौरन तलाक को अपराध करार देनेवाला बिल लोकसभा में पेश किया गया ताकि सितंबर में जारी अध्यादेश के स्थान पर उसे रिप्लेस किया जा सके। तीन तलाक का प्रस्तावित कानून के मुताबिक अगर कोई शख्स फौरन तलाक देता है तो वह गैर कानूनी होगा और इसके लिए पति को तीन साल तक की जेल की सजा हो सकती है।

 

यह बिल राज्यसभा में पास हो गया था लेकिन राज्यसभा में लंबित पड़ा है। कांग्रेस की महिला विंग की अध्यक्ष सुष्मिता देव ने तीन तलाक के खिलाफ महिलाओं की तरफ से चलाए जा रहे हस्ताक्षर अभियान की तारीफ करते हुए कहा- “कई लोगों ने मुझसे कहा कि अगर तीन तलाक बिल पास हो जाता है तो महिलाएं सशक्त हो जाएंगी। लेकिन, हमने इसका विरोध किया क्योंकि यह एक हथियार है जिसे नरेन्द्र मोदी जी ने तैयार किया है ताकि मुस्लिम युवकों को भेज सकें।”

Leave a Comment