Share
Nitin Gadkari की  टेढ़ी नज़रे प्रधानमंत्री पद की ओर: सरकार पर तंज़ कसते हुए कहा -2019 का चुनाव ‘विकास’ पर लड़ने के बजाए हिंदू-मुस्लिम पर लड़ा जा रहा है.

Nitin Gadkari की टेढ़ी नज़रे प्रधानमंत्री पद की ओर: सरकार पर तंज़ कसते हुए कहा -2019 का चुनाव ‘विकास’ पर लड़ने के बजाए हिंदू-मुस्लिम पर लड़ा जा रहा है.

इसमें कोई दोहराए नहीं है की 2019 लोकसभा का चुनाव शर्मनाक बयानों के चलते याद रखा जायेगा। सत्ताधारी दल से लेकर विपक्षी नेताओं के पलटवार में जो कुछ भी अबतक सामने आया। उसे देख ये तो नहीं कहा जा सकता है की इस चुनाव में चर्चा कहीं भी विकास की हुई है। बल्कि हिन्दू-मुसलमान, मंदिर-मस्जिद पर अधिक चर्चा हुई है। इससे लगता है देश का चुनाव कहीं और ही अपना रुख मोड़ रहा है जो की बिलुल देश के हित मैं नहीं है .

इस बीच PM Modi के बड़े नेता Nitin Gadkari ने सरकार पे एक और तंज़ कसा है . और एसा पहली बार नहीं हुआ है की Nitin Gadkari ने अपनी सरकार पर तंज़ कसा हो इससे पहले भी Nitin Gadkari अपनी सभाओं में इंद्रा और नेहरु की तारीफों के पुल बांध चुके हैं .

बोलता हिंदुस्तान के लेख के अनुसार , केंद्रीय मंत्री Nitin Gadkari जो टेढ़ी नज़रों से प्रधानमंत्री पद के तरफ देख रहें है। उन्होंने भी कुछ ऐसा ही महसूस किया है। गडकरी ने कहा कि 2019 का लोकसभा चुनाव सिर्फ़ विकास के एजेंडे पर होना चाहिए था लेकिन ये चुनाव जाति धर्म और संप्रदाय की तरफ मुड़ गया।

Source: The Asian Age

गडकरी इसलिए भी ऐसा कह रहें है क्योंकि खुद पीएम मोदी ने अपने आप को पिछले चुनाव में पिछड़ा बताया था इस बार वो चुनाव में खुद को अति पिछड़ा जाति से बताया। जिसकी विपक्षी दलों ने जमकर आलोचना भी की।

हालाकिं बाद में अपना बचाव करते हुए  ये भी दावा किया की बीजेपी को बहुमत मिलेगा। गडकरी ने कहा कि भाजपा इस बार पिछले लोकसभा चुनाव से ज्यादा सीटें जीतेगी और Narendra Modi दोबारा देश के प्रधानमंत्री बनेंगे।


जाने माने पत्रकार पारकर समीर अब्बास नें भी Nitin Gadkari की बात को Tweet करके बताया .

Leave a Comment