Share
Tej Bahadur की पहली जीत, वाराणसी से PM Modi के निर्वाचन को हाईकोर्ट में चुनौती.

Tej Bahadur की पहली जीत, वाराणसी से PM Modi के निर्वाचन को हाईकोर्ट में चुनौती.

Tej Bahadur Singh जिन्हें सच का खुलासा करने पर BSF से निकाल दिया गया . फिर उन्हीने फैसला किया की वह Varanasi से PM Modi के खिलाफ चुनावी ताल छेड़ेंगे , लेकिन साथ ही उनका वडा यह भी है की उनका नामांकन रद्द होने में भाजपा का हाथ है . उनका कहना है की वह इन्साफ की आवाज़ हमेशा उठेंगे जिसका फायदा उनगे अभी हुआ है .

बता दें कि BSF के बर्खास्त सिपाही व लोकसभा चुनावों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ समाजवादी पार्टी के टिकट पर नामांकन कराने वाले Tej Bahadur Singh द्वारा नामांकन रद्द करने के खिलाफ दाखिल की याचिका इलाहाबाद हाईकोर्ट ने स्वीकार कर ली है। जैसा कि  Tej Bahadur ने बताया कि शनिवार को हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार को अर्जी दी गई थी, जिसको रविवार को कोर्ट ने स्वीकार कर लिया।

लोकसभा चुनाव में Tej Bahadur ने वाराणसी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ नामांकन दाखिल किया था। Tej Bahadur द्वारा लगाई गई याचिका में कहा गया है कि चुनाव आयोग ने दबाव में उन्हें कम समय दिया, ताकि मांगे गए कागजात समय पर जमा न कराए जा सकें।

Tej Bahadur की पहली जीत, वाराणसी से PM Modi के निर्वाचन को हाईकोर्ट में चुनौती,
The Wire: Why ‘Real Chowkidar’ from BSF Wanted to Fight ‘Fake Chowkidar’ Modi in Varanasi

उस समय चुनाव आयोग की ओर से Tej Bahadur की बर्खास्तगी के संबंध में दस्तावेज की कमी बताकर जल्द कागजात जमा कराने को कहा गया था। लेकिन कागजात जमा नहीं होने की वजह से नामांकन को रद्द कर दिया गया था. याचिकाकर्ता Tej Bahadur ने बताया कि नामांकन रद्द करने के खिलाफ शनिवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की गई थी, जिसके लिए रविवार को कोर्ट खोला गया। रविवार को याचिका को स्वीकार कर लिया गया।

कोर्ट ने सुनवाई के लिए याचिका स्वीकार की, यह पहली जीत है बोले तेजबहादुर:

याचिकाकर्ता Tej Bahadur ने कहा कि नामांकन रद्द करने के खिलाफ दायर याचिका सुनवाई के लिए हाईकोर्ट द्वारा स्वीकार करना प्रधानमंत्री के खिलाफ मेरी पहली जीत है। अगर उन्हें इन्साफ नहीं मिला तो वह इस जंग को लड़ते रहेंगे हमेशा .

Source: Amar Ujala

Leave a Comment