Share
Priyanka Gandhi का UP सरकार पर ज़बरदस्त तंज़ ,कहा – ‘हाथ कंगन को आरसी क्या, पढ़े लिखे को फारसी क्या’

Priyanka Gandhi का UP सरकार पर ज़बरदस्त तंज़ ,कहा – ‘हाथ कंगन को आरसी क्या, पढ़े लिखे को फारसी क्या’

बीते चुनावों में कांग्रेस महासचिव Priyanka Gandhi Vadra बीजेपी पर लगातार हमलावर रही हैं ओर उनका यह रूप चुनाव के बाद तक देखने को मिल रहा है. हाल ही में फिर खबर आई है कि प्रियंका गाँधी नें उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर हमला बोला है .

Priyanka Gandhi Vadra  लगातार यूपी सरकार पर हमलावर हैं। पिछले कुछ दिनों में Priyanka ने यूपी सरकार और BJP नेताओं पर निशाना साधते हुए कई ट्वीट्स किए हैं। अब Priyanka Gandhi ने नए ट्वीट में लिखा है कि उत्तर प्रदेश में अपराधियों के कारनामे चरम पर हैं और जनता पूछ रही है कि ऐसा क्यों है?

Priyanka Gandhi ने ट्वीट में लिखा कि यूपी सरकार के नेता प्रदेश में लगातार बढ़ते अपराध पर मेरे ट्वीट का कुछ भी झूठ मूठ जवाब दे दें लेकिन मगर पुरानी कहावत है ‘हाथ कंगन को आरसी क्या, पढ़े लिखे को फ़ारसी क्या’

चुनाव के खत्म होने के बाद भी लगातार प्रियंका योगी सरकार को निशाने पे लगाये हुए है , अब उसके लिए चुनावी रैली नहीं मिलती तो प्रियंका नें Tweeter को ही रास्ता बना लिया है .

इससे पहले Priyanka Gandhi ने अनुदेशकों के मामले में यूपी सरकार पर हमला बोला था। उन्होंने ‘हिन्दुस्तान’ में छपी खबर पर ट्वीट करते हुए कहा था कि यूपी की BJP सरकार अनुदेशकों के ऊपर अत्याचार किए जा रही है। 17,000 रुपये प्रतिमाह वेतनमान का वादा पूरा करना तो दूर अब उनके 8,470 रुपये मानदेय में से भी कटौती की जा रही है। क्या यूपी सरकार के पास इस धोखेबाजी का कोई जवाब है?

Priyanka Gandhi का UP सरकार पर ज़बरदस्त तंज़ ,कहा - 'हाथ कंगन को आरसी क्या, पढ़े लिखे को फारसी क्या'
कांग्रेस कार्यकर्ताओं को प्रियंका गांधी का मैसेज, एग्ज़िट पोल छोड़ो, डटे रहो-चौकन्ने

जल संकट पर बोलीं Priyanka, ‘मिलकर समस्या का हल निकालना होगा’

Priyanka ने सोमवार को Tweet कर लिखा था कि देश में जल संकट के खिलाफ लड़ाई में प्रत्येक व्यक्ति को साथ आना होगा नहीं तो बहुत देर हो जाएगी। उन्होंने हिंदी में Tweet कर लिखा था कि महाराष्ट्र, चेन्नई बुंदेलखंड सहित देश के कई हिस्सों में पानी की समस्या राष्ट्रीय चिंता का विषय है। उन्होंने कहा, ‘जल है तो जीवन है लेकिन जल की बढ़ती कमी हमारे लिए सबसे बड़ा चिंतन है। हम सबको मिलकर इस समस्या का हल जल्दी निकालना होगा। ऐसा न हो कि कहीं देर हो जाए।’

Source: Hindustan Live

Leave a Comment