Share

वाराणसी में शत्रुघ्न सिन्हा PM मोदी के बन सकते हैं “शत्रु” ,विपक्ष बना सकता है साझा उम्मीदवार

खबर कुछ इस प्रकार की मिल रहीं हैं कि कही शत्रुघ्न सिन्हा सच में ही मोदी जी के शत्रु न बजाए। सूत्र बता रहे हैं की शत्रु मोदी या अमितशाह के खिलाफ चुनाव लड़ सकते हैं। पिछले साल 11 अक्टूबर को जब शत्रुघ्न सिन्हा सपा द्वारा आयोजित जयप्रकाश नारायण जयंती कार्यक्रम में शामिल होने लखनऊ पहुंचे थे. इस दौरान जहां उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा, वहीं उन्होंने सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की जमकर तारीफ़ भी की थी.

द प्रिंट हिंदी के लेख के अनुसार ,पीएम नरेंद्र मोदी और अमित शाह के खिलाफ बीजेपी में मोर्चा खोले हुए सांसद शत्रुघ्न सिन्हा यूपी से चुनाव लड़ सकते हैं. चर्चा है कि उन्हें वाराणसी लोकसभा से विपक्ष का साझा उम्मीदवार बनाया जा सकता है बशर्ते उन्हें जल्द ही बीजेपा से इस्तीफा देना होगा. हाल ही में लखनऊ में हुई शत्रुघ्न सिन्हा और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की मुलाकात ने इन कयासों को और हवा दे दी.

source: Uttarpradesh.org

भाजपा से नाराज चल रहे शत्रुघ्न बिहार के पटना से सांसद हैं और पार्टी छोड़ने का मन बना चुके हैं.वहीं बीजेपी भी इस बार उन्हें टिकट देने के मूड में नहीं है. ऐसे में वह बिहार में आरजेडी-कांग्रेस के साझा या यूपी में सपा-बसपा के साझा उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं. अगर वह वाराणसी से पीएम मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ते हैं तो कांग्रेस अन्य विपक्षी दल भी उन्हें समर्थन कर सकते हैं.

शत्रुघ्न सिन्हा को वाराणसी से टिकट देने के पीछे की मंशा यह भी है कि वे बॉलीवुड के सुपरस्टार रहे हैं और बिहार से सटा जिला होने के नाते वहां उनके प्रशंसक भी काफी हैं.

सपा से जुड़े सूत्रों के मुताबिक पार्टी की ओर से उन्हें लखनऊ की सीट पर भी लड़ने का आॅफर दिया गया है. हालांकि वह लखनऊ में राजनाथ के बजाए वाराणसी से मोदी के खिलाफ लड़ने के ज्यादा इच्छुक हैं. अब पहले फैसला उन्हें करना है कि वह बिहार से चुनाव लड़ना चाहते हैं या यूपी से. विपक्ष का समर्थन मिलना तय है.

source: the hust post

शत्रुघ्न सिन्हा अगर वाराणसी से लड़े तो

यह तो तय है कि आगामी लोकसभा चुनाव का केंद्र यूपी ही रहेगा. ऐसे में विपक्ष नरेंद्र मोदी के खिलाफ वाराणसी में मजबूत उम्मीदवार की तलाश में है. दिलचस्प बात ये भी है कि वाराणसी में कांग्रेस, सपा-बसपा में किसी पर भी कोई ऐसा मजबूत उम्मीदवार नहीं है जो मोदी को टक्कर दे सके.सपा वाराणसी में आम आदमी पार्टी से भी समर्थन को लेकर बात कर रही है. दरअसल, 2014 के लोकसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी से अरविंद केजरीवाल दूसरे नंबर पर रहे थे. आप नेताओं से भी शत्रुघ्न के अच्छे संबंध हैं. ऐसे में आप भी उन्हें वाराणसी में पूरा समर्थन करेगी.

Leave a Comment