Share
क्या BJP से हाथ मिलाकर महाराष्ट्र में शिवसेना की बल्ले -बल्ले ?? जानिए

क्या BJP से हाथ मिलाकर महाराष्ट्र में शिवसेना की बल्ले -बल्ले ?? जानिए

लोकसभा चुनाव 2019 से पहले शिवसेना के काफी रंग बदले हुए दिखाई दिए लोगों को लगने लगा था की अब शिवसेना भाजपा का हाथ दुबारा नहीं थमेगी लेकिन  शिवसेना ने अंत में चतुराई से काम लिए और भाजपा  जीत जीत होते देख भाजपा का हाथ थाम  लिया जिससे इनका काफी फायदा होता दिखाई दे रहा है।

MAHARASHTRA में ‘एकला चालो’ का नारा देने के बाद BJP से हाथ मिलाना SHIVSENA के लिए फायदेमंद रहा। BJP के साथ गठबंधन के चलते SHIVSENA 2014 के लोकसभा चुनाव  परिणाम की पुनरावृत्ति कर पाई। साथ ही, पार्टी का मत प्रतिशत भी बढ़ा है। वहीं, विपक्षी दल कांग्रेस-एनसीपी सहित बहुजन समाज पार्टी का वोट प्रतिशत घट गया है।

चुनाव से पहले कई बार शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के तेवर बदले हुए नज़र आये। वह अक्सर PM Modi के खिलाफ बयानबाज़ी करते हुए दिखाई दिए। ल्व्कीन शायद वह जानते थे कि अंत में भाजपा का हाथ थमने में ही भलाई है।

लोकसभा चुनाव में सूबे की 48 सीटों में से 23 BJP और 18 SHIVSENA ने जीती है। पिछली बार भी जीत का आंकड़ा यही था लेकिन, कुछ सीटें गई तो कुछ नई सीटों पर विजय मिली है। इस बार दोनों ही पार्टियों के मत प्रतिशत बढ़े हैं। SHIVSENAने 3 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की है, हालांकि BJP के मत प्रतिशत में कोई विशेष अंतर नहीं आया है।

BJP के 17 लाख वोट बढ़े तो SHIVSENA के 25 लाख

साल 2014 के लोकसभा चुनाव में BJP को MAHARASHTRA में एक करोड़ 33 लाख वोट मिले थे जो बढ़कर डेढ़ करोड़ के आसपास पहुंचे हैं। इसी तरह SHIVSENA को साल 2014 में एक करोड़ मत मिले थे जो इस बार बढ़कर एक करोड़ 25 लाख से अधिक हो गए हैं।

source: The Quint Hindi

कांग्रेस को पहुँचाया घाटा :

MAHARASHTRA में कांग्रेस ने पिछले साल 18.29 प्रतिशत यानि कुल 88 लाख 30 हजार मत हासिल किए थे लेकिन इस बार लोकसभा चुनाव में कांग्रेस का मत प्रतिशत घटकर 16.27 हो गया और सिर्फ एक सीट पर संतोष करना पड़ा। शरद पवार की पार्टी एनसीपी ने पिछली बार लोकसभा चुनाव में छह सीटें जीतकर 16.12 प्रतिशत मत प्राप्त किए थे। जो इस बार घटकर 15.52 प्रतिशत हो गए हैं।

वहीं, बहुजन समाज पार्टी का वोट प्रतिशत 2.63 से घटकर 0.86 प्रतिशत हुआ है। माना जा रहा है कि प्रकाश आंबेडकर और एमआईएम के नेता असदुद्दीन ओवैसी के बहुजन वंचित आघाड़ी के दलितों के वोट बैंक में भारी सेंधमारी का बसपा को नुकसान उठाना पड़ा। वहीं, अन्य दलों को 14 प्रतिशत वोट मिले हैं।

 

MAHARASHTRA से 19 सांसद पहली बार चढ़ेंगे संसद की सीढ़ी

लोकसभा की 48 सीटों वाले MAHARASHTRA से 19 नए सांसद पहली बार संसद पहुंचे हैं। राज्य में सर्वाधिक 23 सीटें जीतने वाली BJP से सर्वाधिक 10 नए सांसद चुने गए हैं। इसके बाद 4 शिवसेना, 2 एनसीपी, 1 एमआईएम, 1 कांग्रेस से और 1 निर्दलीय शामिल हैं।

 

गीते और अहिर सहित चार दिग्गजों ने गंवाई सीटें

SHIVSENA के चार दिग्गज हार गए लेकिन, चार नए चेहरे जीत दर्ज करने में सफल हुए हैं। बड़ी उलटफेर करने वालों में केंद्रीय मंत्री अनंत गीते को हराने वाले एनसीपी के सुनील तटकरे और ऐन मौके पर SHIVSENA छोड़कर कांग्रेस में गए बालूभाऊ धानोरकर शामिल हंै। धानोरकर ने केंद्रीय गृहराज्यमंत्री हंसराज अहिर को हराया।

source: amar ujala

Leave a Comment