Share

मोदी सरकार के खिलाफ तेजस्वी यादय का विरोध मोर्चा , उपेंद्र यादव होंगे शामिल। पढ़िए PM को तेजस्वी का पत्र।

आज तेजस्वी यादव मोदी सर्कार के खिलाफ दिल्ली में हल्ला बोलेंगे। यूनिवर्सिटी में 13 प्वाइंट रोस्टर के नाम पर आरक्षण समाप्त करने की साजिश का आरोप लगाते हुए नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव आज दिल्ली में पैदल मार्च करेंगे। सूत्रों के अनुसार इस मार्च में रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा भी शामिल होंगे।

दैनिक जागरण के लेख के अनुसार ,तेजस्‍वी ने इसके पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लंबा पत्र भी लिखा है। इसमेें उन्‍हाेंने यह लिखा है कि देश भर में सामाजिक न्याय को कुचला जा रहा है। रोस्‍टर प्‍वाइंट के बहाने केंद्र आरक्षण को खत्‍म कर रही है। इसके खिलाफ वे 31 जनवरी को दिल्‍ली में मंडी हाउस से लेकर संसद मार्ग तक विशाल पैदल मार्च निकालेंगे। इसमें उन्‍होंने अधिक से अधिक लोगाें को शामिल होकर सरकार को अपनी ताक़त का एहसास कराने की अपील की है।

source: Hindustan

यहां पढ़ें तेजस्वी यादव का लिखा अक्षरश: पूरा पत्र…

आदरणीय प्रधानमंत्री जी,

आपकी रहनुमाई में देश भर में सामाजिक न्याय को कुचला जा रहा है, संविधान प्रदत्त आरक्षण की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। पहले जहां यूनिवर्सिटी को यूनिट मानकर 200 प्वाइंट्स रोस्टर के ज़रिए बहाली होती थी, वहीं अब 13 प्वाइंट के विभागवार रोस्टर की साजिश अपनाई गई है। आम बहुजन जनता अपने ख़िलाफ़ इस षड्यंत्र को सरल शब्दों में समझें कि उनके बाल-बच्चे अब प्रोफेसर साहब नहीं बन पाएंगे। मिनिमम गवर्नमेंट (मिनिमम डेमोक्रेसी) और मैक्सिमम गवर्नेंस (मैक्सिमम कोर्ट-कचहरी) के इस ढिंढोरावादी मॉडल की सरकार ने इस महत्वपूर्ण मसले पर अॉर्डिनेंस लाने से इंकार कर दिया।

आज किसी क्षेत्र में सोशल डायवर्सिटी नहीं दिखती। 496 कुलपतियों में 6 आदिवासी, 6 दलित और 36 पिछड़े हैं, बाक़ी 448 कुलपति ‘अतिदरिद्र’ उच्च जाति के हैं। आखिर कब सबको समुचित प्रतिनिधित्व मिलेगा?

एसएलपी खारिज़ होने के बाद अभी-अभी राजस्थान यूनिवर्सिटी का जो विज्ञापन आया है, उसमें एसटी-एससी-ओबीसी का रिजर्वेशन ढूंढे से भी नहीं मिलेगा। हमारी पार्टी ने आने वाले बजट सेशन के लिए ध्यानाकर्षण प्रस्ताव डाल दिया है, मानव संसाधन विकास मंत्री को इस बाबत ख़त भी लिखा है। चूंकि सरकार का तब मानना था कि विभागवार रोस्टर ठीक नहीं है, तो अब सरकार इस पर तत्परता से बिल लाए। हमारे दल का प्रधानमंत्री जी से विनम्र निवेदन है कि तुरंत इस पर अध्यादेश लाए जाए। नहीं तो जुमलों की इस सरकार को बहुजन जनता सत्ता से उतार फेंकेगी।

हमारा दल सभी न्यायप्रिय साथियों से अपील करता है कि 31 जनवरी को मंडी हाउस से संसद मार्ग तक विशाल मार्च में शरीक होकर सरकार को अपनी ताक़त का एहसास कराएं। सामाजिक न्याय और धर्मनिरपेक्षता के लिए संघर्ष के हर मोर्चे पर हमारी पार्टी हमेशा आपके साथ खड़ी है।

आपका,

तेजस्वी यादव,

नेता प्रतिपक्ष, बिहार विधानसभा

Leave a Comment