Share
बंगाल में BJP कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी बरक़रार , दुर्गापुर के TMC दफ्तर में घुसकर मचाया तांडव।

बंगाल में BJP कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी बरक़रार , दुर्गापुर के TMC दफ्तर में घुसकर मचाया तांडव।

BJP के सत्ता में आते ही उसका आतंक शुरू हो गया। बंगाल में आज वही हाल है जो चुनाव के पहला था। भाजपा के कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी थमने का नाम ही नहीं ले रही है . हाल ही में फिर BJP के वर्कर्स ने TMC के कार्यालय में तोड़फोड़ की .

नवजीवन इंडिया के लेख के अनुसार ,Loksabha Elections के नतीजों के बाद पश्चिम बंगाल में BJP पर हिंसा और तोड़फाड़ करने का आरोप लगा है। ताजा तस्वीर दुर्गापुर से सामने आई है। जहां TMC दफ्तर में तोड़फोड़ की गई है। पांडवेश्वर से TMC के विधायक जितेंद्र तिवारी ने BJP कार्यकर्ताओं पर तोड़फोड़ का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा, “BJP बंगाल में तांडव कर रही है। अगर BJP अपने कार्यकर्ताओं को नहीं रोकती है, तो हम जवाबी कार्रवाई करेंगे, हम चुप नहीं बैठेंगे। आप बंगाल में जीते हैं, लेकिन TMC कार्यालय में तोड़ नहीं कर सकते।”


इससे पहले BJP कई बार TMC पर तोड़फोड़ और हिंसा फैलाने का आरोप लगा चुकी है। लेकिन अब खुद BJP पर हिंसा फैलाने और तोड़फोड़ करने का आरोप लगा है। इससे पहले BJP पर लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान हिंसा फैलाने का आरोप लग चुका है।

Kolkata  में चुनाव प्रचार के दौरान को BJP अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान हंगामा हो गया था। रोड शो के दौरान कुछ लोगों ने पत्थर फेंके थे और आगजनी भी की गई थी। पुलिस ने हालात काबू में करने के लिए लाठीचार्ज किया था। TMC प्रमुख ममता बनर्जी ने इस हिंसा का आरोप BJP पर लगाया था।

ममता बनर्जी ने कहा था, ‘‘BJP ने पहले से ही हिंसा की योजना बनाई थी। उन्होंने बाहर से गुंडे बुलवाकर कोलकाता यूनिवर्सिटी कैम्पस में हमला किया था।’’ वहीं BJP ने इस हिंसा का आरोप TMC पर लगाया था।

बंगाल में BJP कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी बरक़रार , दुर्गापुर के TMC दफ्तर में घुसकर मचाया तांडव।
Source: The Economic Times

पहले लगभग 58 BJP समर्थकों की हुई थी गिरफ्तारी :

Indian Express  ने पुलिस सूत्रों के हवाले से बताया है कि इस हिंसा को अंजाम देने के आरोप में गिरफ्तार सभी 58 लोग BJP समर्थक हैं. ये सभी लोग पश्चिम बंगाल के अलग-अलग इलाकों से यहां आए थे. TMC  ने आरोप लगाया था कि BJP बाहर से लोगों को यहां लेकर आई है.

Hostel की छत से पत्थरबाजी

एक BJP वर्कर ने बताया कि जब हम लोग वहां से गुजर रहे थे, तब हमारी तरफ पत्थरबाजी हुई. उन्होंने हॉस्टल की छत से हमारी तरफ पत्थर फेंके, जिससे हमारे कुछ लोग भी घायल हुए. नहीं तो हम बिना किसी कारण हॉस्टल में क्यों घुसते?

इसी इलाके में ज्वैलरी शॉप चलाने वाले अरविंद सिंह ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि पूरे आधे घंटे तक ये बवाल चलता रहा. लेकिन वहां पुलिस नहीं थी. BJP समर्थकों की संख्या TMC  समर्थकों से ज्यादा थी. कुछ लोगों ने कैंपस के अंदर से पत्थर फेंकने शुरू किए और BJP समर्थकों ने जबरन कैंपस में घुसकर सब कुछ तोड़ डाला.

‘गेट को धक्का देने लगे लोग’

विद्यासागर कॉलेज के केयरटेकर एसआर मोहंती ने बताया कि उन्हें रोड शो के वहां पहुंचने के 15 मिनट पहले करीब शाम 6:30 बजे गेट बंद करने को कहा गया था. तभी रोड शो में शामिल करीब 50-60 लोग गेट को धक्का देने लगे. उन्होंने पानी की बोतलें भी कैंपस की तरफ फेंकी. इसके बाद मैं ऊपर भागा और कुछ छात्र पीछे की तरफ भागे. उन्होंने फर्नीचर और विद्यासागर की मूर्ति तोड़ दी, इसके बाद पुलिस वहां आ गई.

जर्नलिज्म की एक स्टूडेंट ने बताया कि वो उस वक्त कैंपस से वापस जा रही थी. लेकिन लोगों की भीड़ देखकर उसे सेकेंड फ्लोर पर छिपना पड़ा. उसने बताया, मैंने सुना कि वो लोग तोड़फोड़ करते हुए जय श्री राम के नारे लगा रहे थे. मैं अपने दो दोस्तों के साथ ऊपर की तरफ भागी. इसके बाद पुलिस ने वहां आकर भीड़ को वहां से निकाला.

यह भी पढ़े : आखरी चरण से पहले प.बंगाल में फिर चुनावी हिंसा, BJP-TMC के कार्यकर्ताओं के बीच चले लाठी-डंडे..

Leave a Comment