Share
जमशेदपुर में अमित शाह के सभा में खाली पड़ी रहीं कुर्सियां, वायरल हुआ विडियो !

जमशेदपुर में अमित शाह के सभा में खाली पड़ी रहीं कुर्सियां, वायरल हुआ विडियो !

एक ओर जहां भाजपा अध्यक्ष अमित शाह झारखंड में ताबड़तौड़ रैली कर रहे हैं, तो दूसरी और उन्हें कई जगहों पे निराशा हाथ लग रही , बात करे जमशेदपुर में एग्रीको मैदान में आयोजित उनकी जनसभा की, तो सभा को संभोदित करते दौरान ढेर सारी कुर्सियां खाली पड़ी रही। इस सभा की वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में साफ दिख रहा है कि लाल रंग की कुर्सियां खाली पड़ी है, और आगे बैठे पार्टी कार्यकर्ता अपने सिर पर भगवा टोपी पहने हुए है और इस सभा में अमित शाह चिंतित नजर आ रहे थे। जबकि शाह, कांग्रेस सरकार के 70 वर्षों के कमियों को गिना रहे थे।

Empty chairs at Amit Shah rally in Jamshedpur
Empty chairs at Amit Shah rally in Jamshedpur

रैली के दौरान क्या कहा बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने 

‘भाषा’ के मुताबिक, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने रैली में दावा किया कि आम चुनावों की लड़ाई “कांग्रेस के 3G और भाजपा के 3G” के बीच में है। एक तरफ कांग्रेस का 3G गांधी परिवार है – सोनिया (गांधी), राहुल (गांधी) और प्रियंका (गांधी), जबकि दूसरी ओर भाजपा का 3G गांव, गौमाता और गंगा है। शाह ने लोगों से सही 3G चुनने को कहा। उन्होंने घुसपैठियों को “दीमक” की संज्ञा देते हुये कहा कि कश्मीर से कन्याकुमारी तक और कोलकाता से कच्छ तक वे घुसपैठियों की पहचान करेंगे और उन्हें देश से निकाल कर बाहर करेंगे। चुनावी रैलियों में वह आगे बोले कि गरीबों की स्थिति सुधारने के लिए जो काम कांग्रेस सरकार 55 वर्षों में नहीं कर सकीं वह केन्द्र की मोदी सरकार ने सिर्फ पांच वर्षों में कर दिखाया।

 

आखिर जनता क्यों नहीं सुन रही शाह को ?

लेकिन शाह के इतने आरोपों और गाँधी परिवार पर तंज कसने के बाद भी लोगों में उनके भाषण में  कोई खास दिलचस्पी नहीं दिखी, शायद जनता जानती है पिछले 5 वर्षों में केंद्र में बैठी मोदी सरकार ने कितने वादे पुरे किए हैं, और बार बार इस तरह से आरोप लगा के कब तक अपना काम निकलेगी बीजेपी, अगर देखा जाए तो बीजेपी अब अपनी रैलियों में ना तो विकास की बात करती है, ना रोज़गार की, ना महंगाई की, ना शिक्षा की और ना ही विदेशों में जमा काले धन की 

  • दूसरी ओर, धनबाद में देश में जारी लोकसभा चुनावों के बाद एक बार फिर से सत्ता में आने दावा करते हुए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि देश के लोग पसंद और संस्कृति से अलग-अलग हैं लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पक्ष में अपने नारों से एकजुट हैं। शाह ने झारखंड के धनबाद में एक रैली में कहा कि कांग्रेस जो 55 साल में नहीं कर पाई वो मोदी नीत सरकार ने गरीबों के कल्याण के लिए पिछले पांच साल में कर दिखाया है।

जिसका जिक्र बीजेपी 2014 में अपने हर एक रैली में किया करती थी और दम भरती थी की अगर वो सत्ता में आए तो सबसे पहले विदेशों में जमा काले धन को अपने देश में लायेंगे जिससे की लगभग हर एक के खाते में 15-15 लाख रुपये आ जायेंगे और हमारी आर्थिक स्थिथि पहले से कहीं ज्यादा मजबूत होगी. लेकिन अब जनता जान चुकी है ये सब बीजेपी के जुमले थे सत्ता में आने के लिए और वो अपने हर एक वादे पर नाकाम होती नज़र आ रही है इसलिए अब बीजेपी अपनी रैलियों में इस तरह के भाषण देती है जिससे आपस में भेद भाव हो और लोगों को असल मुद्दे से भटकाया जा सके.

कुछ अन्य बातें शाह की रैली के दौरान 

उन्होंने कहा, ‘मैंने चुनाव प्रचारों के लिए लगभग सभी राज्यों का दौरा किया है। देश भर के लोगों की पसंद और संस्कृति अलग-अलग है लेकिन हर जगह एक बात समान है और वह है मोदी के पक्ष में लगने वाले नारे।’ बीजेपी अध्यक्ष ने राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष गर्मी में तापमान बढ़ते ही छुट्टियों पर चले जाते हैं। उन्होंने कहा, ‘एक तरफ आपके पास मोदी हैं जिन्होंने 20 साल में एक भी छुट्टी नहीं ली है। वहीं दूसरी तरफ राहुल गांधी हैं जो लंबी छुट्टी के लिए अज्ञात स्थानों पर चले जाते हैं, जिसके बारे में उनकी मां को भी पता नहीं होता है।’

Source: Jansatta

 

Leave a Comment