Share
परिस्थितियों के मद्देनज़र कश्मीर में आंशिक रूप से बहाल की गई फोन और इंटरनेट सेवा, जुमे की नमाज के लिए दी गई ढील

परिस्थितियों के मद्देनज़र कश्मीर में आंशिक रूप से बहाल की गई फोन और इंटरनेट सेवा, जुमे की नमाज के लिए दी गई ढील

जम्मू-कश्मीर में सिक्यूरिटी लॉकडाउन के पांच दिन बाद राज्य में फोन और इंटरनेट सेवा को शुक्रवार सुबह आंशिक रूप से बहाल कर दिया गया है. शुक्रवार की नमाज के लिए आवाजाही पर लगाई गई पाबंदियों में भी ढील दी गई है. केंद्र सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने और उसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटे जाने के बाद वहां की स्थिति पर नजर रखने के लिए काफी संख्या में सुरक्षाबल तैनात हैं. श्रीनगर में जामा मस्जिद का मुख्य गेट बंद था, इससे लगता है कि शहर की मुख्य मस्जिद में नमाज की संभावना कम है. हालांकि, अधिकारियों ने बताया कि शहर के भीतरी हिस्सों में स्थित छोटी मस्जिदों में नमाज पढ़ने की मंजूरी दी जाएगी. हालांकि, व्यवस्था बनाए रखने के लिए काफी संख्या में जवानों को तैनात किया गया है.

वहीं, अधिकारियों ने बताया कि अगर नमाज बिना किसी हंगामे के हो जाती है तो पाबंदियों को और ज्यादा कम कर दिया जाएगा.

बता दें, पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला सहित 400 राजनेताओं को हिरासत में रखा गया है, ताकि तरह का कोई प्रदर्शन या रैलियां ना हो. राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने गुरुवार को स्थिति का जायजा लिया था और भरोसा दिलाया था कि जुमे की नमाज और अगले सप्ताह ईद के लिए पाबंदियों में ढील दी जाएगी.

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को जम्मू-कश्मीर के लोगों को आश्वासन दिया कि सरकार यह सुनिश्चित कर रही है कि उन्हें 12 अगस्त को ईद मनाने में किसी भी तरह की मुश्किलों का सामना न करना पड़े. केंद्र सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को निरस्त करने और राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों- जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में विभाजित करने के फैसले पर प्रधानमंत्री मोदी ने गुरुवार को राष्ट्र के नाम संबोधन दिया.

अपने संबोधन में मोदी ने यह भी कहा कि सरकार जम्मू-कश्मीर के उन लोगों को हरसंभव मदद मुहैया करा रही है जो कहीं और रहते हैं और त्योहार मनाने के लिए अपने घर लौटना चाहते हैं. उन्होंने कहा, ‘मैं जम्मू-कश्मीर के दोस्तों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि स्थिति धीरे-धीरे सामान्य हो जाएगी और उनकी कठिनाइयां कम हो जाएंगी.’ मोदी ने कहा, ‘सरकार यह सुनिश्चित कर रही है कि जम्मू-कश्मीर में लोगों को ईद मनाने में किसी तरह की कठिनाई का सामना न करना पड़े.’ उन्होंने इस मौके पर लोगों को ईद की शुभकामनाएं भी दीं

Source: NDTV

Leave a Comment