Share
RAM MANDIR के नाम पर चुप क्यों है भाजपा ?? क्या वाकई पहले भी BJP का मुद्दा राममंदिर नहीं था ? जानिए

RAM MANDIR के नाम पर चुप क्यों है भाजपा ?? क्या वाकई पहले भी BJP का मुद्दा राममंदिर नहीं था ? जानिए

राम मंदिर के नाम पर लोगों के अंदर की गर्मी आज भी उतनी ही है जितनी पहले थी लेकिन BJP जिसने 2014 में या उससे पहले भी देशवासियों को राममंदिर के सपने दिखाए PM मोदी के होते हुए भी वो शांत क्यों है ?? कभी सोचा है 2014 भाजपा के घोषणा पत्र के सबसे बड़ा मुद्दा राम मंदिर 2019 में सरक कर 42वें पन्ने पर क्यों पहुच गया ?? क्या अब बीजेपी को राम नाम की ज़रूरत नहीं ?? ये सारे सवालात आपके मन में ज़रूर आरहे होंगे कइस चुनाव BJP राममंदिर के नाम पर चुप है . यहाँ तक की किसि सभा तक में भी राम और राममंदिर का ज़िक्र नहीं है .

source: Times Now

राम मंदिर आंदोलन के गति पकड़ने और राजनीतिक मुद्दा बनने के बाद शायद ऐसा पहली बार हो रहा है कि इस मुद्दे को लेकर चुनाव में कोई गहमागहमी नहीं है। BJP  शांत है ट शायद जनता भी शांत होने लगे है , शायद इसलिए रामनवमी की पूर्व संध्‍या पर अयोध्‍या में भी ‘मंदिर वहीं बनाएंगे’ का नारा लगाता कोई नहीं दिखा। जिस राम राज्‍य रथ को पिछले साल रवाना किया गया था, वह शुक्रवार को अयोध्‍या पहुंच गया। इस राम राज्‍य रथ से भी लोगों में बहुत उत्‍साह नहीं जगा और मात्र कुछ मंदिर समर्थक ही वहां पहुंचे। दूसरी और मोदी जी राममंदिर छोडकर शहीद सैनिकों के नाम पर वोट मांग रहे हैं , इसलिए  अवध विश्‍वविद्यालय के सेवानिवृत्‍त प्रफेसर रामशंकर त्रिपाठी कहते हैं, ‘बालाकोट का मुद्दा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए ज्‍यादा भावोत्‍तेजक है।’

Image result for राम मंदिर, लल्‍लू सिंह

जब कहा मंदिर नहीं बल्कि राष्‍ट्रवाद है मुद्दा :

हद तो यहाँ हो गयी जब अयोध्‍या से बीजेपी के प्रत्‍याशी और वर्तमान सांसद लल्‍लू सिंह खुले तौर पर इसे स्‍वीकार करते हैं। उन्‍होंने कहा, ‘मंदिर नहीं, राष्‍ट्रवाद मुद्दा है। मंदिर कभी मुद्दा था ही नहीं। हम तो मोदी के नाम पर जीतेंगे।’ तो क्या यह भी सच है कि राममंदिर के नाम पर नहीं बल्कि मोदी जी के नाम पर चुनाव जीती थी बीजेपी ??

अब खुद बताइए की उनका क्या होगा जो लोग अपने अपने स्तर से राम मंदिर के निर्माण की शुआत कर बेठे हैं . BJP इतने ख्वाब दिखाके इस तरह चुप बेठी क्या इससे जनता सबक लेकिन . और एंड में सबसे अहम् बात यह की अगर राष्‍ट्रवाद ही BJP का मुद्दा है तो पहले राम मंदिर के नाम पर वोट क्यों मांगे या फिर यूँ कहलो BJP के लिए राष्‍ट्रवाद ही राम हैं  …..

Leave a Comment