Share

चुनाव की तारीख़ तो बता दी अब नतीज़े भी बता दो

चुनाव आयोग ने आज कर्नाटक विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान किया है| लेकिन चुनाव आयोग से पहले ही तारीखें सार्वजनिक हो चुकी थीं| बीजेपी के आईटी सेल इंचार्ज अमित मालवीय ने पहले ही इसकी घोषणा कर दी थी|जब चुनाव आयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे थे, तो  आयोग से पहले ही अमित मालवीय ने चुनाव तारीख बता दी|

आज सुबह 11 बजे दिल्ली में चुनाव आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस हुई| चुनाव आयुक्त ओपी रावत सिलसिलेवार तरीके से चुनावों के बारे में जानकारी दे रहे थे| उन्होंने अब तक तारीखों की घोषणा नहीं की थी, कि इसी बीच 11 बजकर 8 मिनट पर अमित मालवीय ने ट्वीट कर दिया| मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने मंगलवार (27 मार्च) को दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान ऐलान किया कि कर्नाटक में 12 मई को चुनाव कराए जाएंगे, जबकि 15 मई को चुनाव के नतीजे घोषित किए जाएंगे। इसके साथ ही कर्नाटक में तत्काल प्रभाव से आचार संहिता लागू हो गई है। हालांकि मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत की प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान एक नया विवाद भी पैदा हो गया।

यह भी पढ़े : https://firegoesviral.in/journalistmurder/

दरअसल, चुनाव आयोग द्वारा औपचारिक ऐलान से पहले ही भारतीय जनता पार्टी (BJP) के आईटी हेड अमित मालवीय ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दी। मालवीय ने ट्वीट कर कहा कि 12 मई 2018 को चुनाव होंगे और मतगणना 18 मई को होगा।

यह भी पढ़े : https://firegoesviral.in/annahazare/

आयोग ने पत्रकारों द्वारा यह मुद्दा उठाए जाने पर साफ कहा कि इस पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। हालांकि विवाद बढ़ने पर अमित मालवीय ने ट्वीट डिलीट कर दिया। लेकिन डिलीट के बावजूद चुनाव आयोग ने मालवीय के ट्वीट को गंभीरता से लिया है। चुनाव आयोग ने कहा कि अगर चुनाव की तारीखें लीक हुई हैं तो इस पर जांच के बाद कानूनसम्मत कड़ी कार्रवाई की जाएगी। जब मुख्य चुनाव आयुक्त ओ पी रावत ने मंगलवार (27 मार्च) को कर्नाटक विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान किया तो अमित मालवीय की बात सहीं साबित हुई। राज्य में 12 मई को एक ही चरण में चुनाव कराए जाएंगे। हालांकि, चुनाव नतीजों की तारीख बदल गई। अमित मालवीय ने मतगणना की तारीख 18 मई बताई थी, जबकि आयोग ने इसे 15 मई तय किया है|

Leave a Comment